Featured »

January 4, 2020 – 5:24 pm

Sung by Kailash Kher, the song Bol Re Dilli Bol (बोल रे दिल्ली बोल) was recently released by Munish Raizada Films. The song is a part of documentary film (6 episodes) named “Transparency: Pardarshita” that …

Read the full story »
Democracy & Governance
Economy
Policy Matter
Religion
Miscellaneous
Home » Column Hindi, Miscellaneous, Policy Matter, Society

सपनों के देश में यह कैसा अंधेरा ?

Submitted by on February 22, 2015 – 1:03 am

Capture

पिछली दो शताब्दियों में अमेरिका ने सभी क्षेत्रों में अभूतपूर्व विकास किया है, पर अपने समाज में श्वेत-अश्वेत के बीच नस्ली भेदभाव की खाई पाटने में पूरी तरह कामयाब नहीं हो पाया है। आज जब वह खुद को विश्व नेता के रूप में स्थापित करना चाहता है, तब उसे अपने घर में फैली नस्ली असमानता मिटाने पर गंभीरता से ध्यान देना चाहिए। इन दिनों अमेरिका में ‘अफ्रीकन अमेरिकन हिस्ट्री मंथ’ मनाया जा रहा है।19 फरवरी, 2015 के नवभारत टाइम्स समाचारपत्र में प्रकाशित मेरा लेख – सपनों के देश में यह कैसा अंधेरा:

http://epaper.navbharattimes.com/details/24870-56805-1.html

Tags: , ,

Leave a comment

Add your comment below. You can also subscribe to these comments via RSS

Be nice. Keep it clean. Stay on topic. No spam.

You can use these tags:

<a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong> 

This is a Gravatar-enabled weblog. To get your own globally-recognized-avatar, please register at Gravatar